RTI

Jharkandinfo News: RTI में अवैध संशोधन हुआ तो 23 से आमरण अनशन|

RTI में अवैध संशोधन हुआ तो 23 से आमरण अनशन|

रांची, 21 मार्च : झारखण्ड आरटीआई फोरम ने सूचना कानून में संशोधन को जनविरोधी और गैरकानूनी करार दिया है। फोरम के अध्यक्ष बलराम और सचिव विष्णु राजगढ़िया ने कहा है कि अगर RTI एक्ट में छेड़छाड़ की गई तो राज्यव्यापी आंदोलन किया जाएगा। 23 मार्च को सुबह 10 बजे हरमू स्थित शहीद भगत सिंह पार्क में आमरण अनशन प्रारंभ किया जाएगा। बलराम और विष्णु राजगढ़िया के साथ ही अन्य लोग आमरण अनशन करेंगे।

RTI

RTI

इसमें अरुणा राय, अरविन्द केजरीवाल, नंदिनी सहाय, निखिल डे, हर्ष मंदर, अंजलि भारद्वाज, शैलेश गांधी, सुभाष अग्रवाल इत्यादि देश के प्रमुख लोगों को भी समर्थन हेतु आमंत्रित किया जाएगा।

रघुवर जी ने झारखंड में ईमानदार, पारदर्शी और जवाबदेह प्रशासन का वादा किया है। लेकिन कुछ अधिकारी उन्हें गुमराह करके सूचना कानून की हत्या करने जा रहे हैं। 21 मार्च की शाम चार बजे प्रोजेक्ट भवन में RTI Act को फाँसी पर लटकाया जा रहा है।

झारखंड आरटीआई फोरम द्वारा आज दोपहर 2.30 बजे प्रोजेक्ट भवन में माननीय मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव को ज्ञापन देकर प्रस्तावित संशोधन के अवैध होने की जानकारी दी जाएगी।

प्रस्तावित संशोधन में राजनीतिक दलों और सामाजिक संगठनों को सूचना नहीं देने का नियम बनाया गया है। जबकि इस सम्बन्ध में भारत सरकार ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि उन्हें भी नागरिक समझकर सूचना दी जाए।
संशोधन में गरीब से नागरिक अधिकार छीन लेने का प्रावधान किया गया है। अगर किसी गरीब नागरिक ने RTI से सूचना ली, तो उसका सिर्फ व्यक्तिगत उपयोग कर सकता है। अगर उसे किसी मंत्री या अधिकारी के भ्रष्टाचार की जानकारी मिले, तो चुप रहना होगा।

इसके अलावा, कई ऐसे नियम बनाए गए हैं, जिसके कारण राज्य में RTI कानून पूरी तरह से मजाक बनकर रह जाएगा। अधिकारियों को इतने तरह के बहाने मिल जाएंगे, जिनके आधार पर नागरिकों को सूचना से वंचित कर दिया जाएगा।
अगर आज संशोधन पारित हुआ तो शाम 6 बजे फिरायालाल चौक पर एक प्रदर्शन करके नागरिकों से आंदोलन में समर्थन का आह्वान किया जाएगा।

Share This:

Leave a Reply