Jyotirlinga

12 Jyotirlinga of Lord Shiva, शिवजी के पवित्र 12 ज्योतिर्लिंग का विवरण|

12 Jyotirlinga of Lord Shiva

ज्योतिर्लिंग (Jyotirlinga)| हिन्दु धर्म में पुराणों के अनुसार यह मान्यता है कि देवों के देव महादेव, भगवान शिवजी जहाँ-जहाँ स्वय़ं प्रकट हुए उन स्थानों पर स्थित शिवलिंगों को ज्योतिर्लिंग (Jyotirlinga) के रुप में पुजा जाता है। ऐसे कुल बारह स्थान हैं जहाँ भगवान शिवजी के पवित्र ज्योतिर्लिंग स्थापित हैं।

Jyotirlinga

Jyotirlinga

हिन्दु धर्म में ऐसी मान्यता है कि जो भी मनुष्य प्रतिदिन प्रात: काल और सायंकाल के समय इन बारह पवित्र ज्योतिर्लिंगों का स्मरण अथवा उच्चारण करता है उस मनुष्य के सारे पाप मिट जाते है।

शिव पुराण, जिसमें परात्पर ब्रह्म शिव के कल्याणकारी स्वरूप का तात्त्विक विवेचन, रहस्य, महिमा और उपासना इत्यादि का विस्तृत वर्णन है। शिव पुराण में शिव जी को पंचदेवों में प्रधान अनादि सिद्ध परमेश्वर के रूप में स्वीकार किया गया है। शिव पुराण के शतरुद्र संहिता, अध्याय 42/2-4 में पवित्र 12 ज्योतिर्लिंगों के नाम उल्लिखित है।

पवित्र 12 ज्योतिर्लिंगों के नाम निम्नलिखित हैं:-

  1. सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, जो गुजरात राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र में विराजमान है।
  2. मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग, जो आंध्र प्रदेश राज्य के कुर्नूल नामक स्थान पर स्थित है।
  3. महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग, जो मध्यप्रदेश राज्य के महाकाल, उज्जैन नामक स्थान में स्थित है।
  4. ऊँकारेश्वर ज्योतिर्लिंग, जो मध्यप्रदेश राज्य में नर्मदा नदी के एक द्वीप पर स्थित है।
  5. केदारनाथ ज्योतिर्लिंग, जो उत्तराखण्ड राज्य के केदारनाथ नामक स्थान पर स्थित है।
  6. भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग, जो महाराष्ट्र राज्य के भीमाशंकर नामक स्थान पर स्थित है।
  7. काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग, जो उत्तर प्रदेश के वाराणसी नामक स्थान पर स्थित है।
  8. त्रयम्बकेश्वर ज्योतिर्लिंग, जो महाराष्ट्र राज्य के नासिक जिले में स्थित है।
  9. वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग, जो झारखण्ड राज्य के देवघर जिले में स्थित है।
  10. नागेश्वर ज्योतिर्लिंग, जो गुजरात राज्य के द्वारका नामक जिले में स्थित है।
  11. रामेश्वर ज्योतिर्लिंग, जो तमिलनाडु राज्य के रामनाडजिले में रामेश्वरम नामक स्थान पर स्थित है।
  12. घृष्‍णेश्‍वर ज्योतिर्लिंग, जो महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद जिले के एल्लोरा नामक स्थान पर स्थित है।

Share This:

Leave a Reply